राष्ट्रीय आय का अर्थ, परिभाषा एवं अवधारणा : National income in Hindi ( Full details)

National income meaning in Hindi  :- राष्ट्रीय आय से आशय किसी एक वित्तीय वर्ष मे किसी देश द्वारा उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं का मूल्य से है।
 
इस प्रकार, यह एक वर्ष की अवधि के दौरान किसी भी देश की सभी आर्थिक गतिविधियों का शुद्ध परिणाम है और मुद्रा ( करेंसी ) के संदर्भ में इसका मूल्यांकन किया जाता है।
 

जिस राष्ट्र की राष्ट्रीय आय जितनी अधिक होगी उस देश की अर्थव्यवस्था उतनी ही मज़बूत मानी जाती है। इसलिए प्रत्येक वर्ष इसका मूल्यांकन करना बहुत महत्वपूर्ण है। निचे हम इसे विस्तार से समझने की कोशिश करेंगे की राष्ट्रीय आय क्या होता है, इसकी गणना कैसे कि जाती है, अवधारणाएं तथा सूत्र 

सब यह पढ़ रहे है आप भी पढ़े

 National income in hindi
National income in Hindi
 

National income in Hindi: राष्ट्रीय आय का अर्थ एवं परिभाषा 

 
National income meaning in Hindi 
 
राष्ट्रीय आय ( National income ) :- किसी देश की ओर से एक साल में उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं की कीमत प्राप्ती होती है, उसे राष्ट्रीय आय कहते है । जितनी ज्यादा national income  होगी उसी अनुसार किसी भीअर्थव्यवस्था या देश का विकास आगे बढ़ता है।
 
राष्ट्रीय आय के आंकड़ों से यह जाना जा सकता है कि किसी देश का विकास कितनी तेजी बढ़ रहा है।
 

National income Definition in Hindi (राष्ट्रीय आय की परिभाषा )

 
National income की माप का अनुमान 1868 में दादाभाई नौरोजी में प्रकाशित किया। इन्होंने अपनी पुस्तक ‘The poverty and Un- British Rule in India’ में भारत की राष्ट्रीय आय 340 करोड रुपए और प्रति व्यक्ति आय ₹20 बताया था। 
 
स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात केंद्रीय सरकार ने 4 अगस्त 1949 ईस्वी में एक national income समिति की नियुक्ति की और इसके अध्यक्ष प्रोफेसर पी सी महालनोविसको नियुक्त किया। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद 1949 में गठित राष्ट्रीय आय समिति ने प्रति व्यक्ति आय 246.9 रूपय का अनुमान लगाया।
 
केन्द्रीय सांख्यिकी संगठन (सीएसओ) से सम्बंधित मुख्य तथ्य केन्द्रीय सांख्यिकीय संगठन (सीएसओ) भारत में सांख्यिकीय गतिविधियों के समन्वय एवं सांख्यिकीय मानकों के विकास एवं अनुरक्षण हेतु उत्तरदायी केन्द्रीय सरकार का एक संगठन है.
 
इसकी स्थापना 2 मई 1951 को हुई थी. सीएसओ का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है. यह संगठन सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन है.
 

National income in hindi

Measurement method of national income in hindi 

राष्ट्रीय आय की गणना की विधियाँ 

राष्ट्रीय आय की माप की तीन विधियां है –

1. आय गणना विधि :

आय गणना विधि के अंतर्गत कुल लगान कुल मजदूरी आदि को सम्मिलित करते हैं यानी विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत व्यक्तियों के वेतन आदि के रूप में प्राप्त आय को सम्मिलित करते हैं।

2. उत्पादन गणना विधि :

उत्पादन गणना विधि को वस्तु सेवा विधि भी कहते हैं। इस विधि के द्वारा एक वर्ष में उत्पादित अंतिम वस्तुओं तथा सेवाओं के कुल मूल्य को सम्मिलित करते हैं।
 
इस विधि के अंतर्गत उत्पादन, खनन, मत्स्य उद्योग, कृषि, पशुपालन और वानिकी को सम्मिलित करते हैं। यानी इसके अंतर्गत वित्तीय क्षेत्र को सम्मिलित करते हैं।
 

3. व्यय गणना विधि :

इस विधि को उपभोग बचत विधि भी कहा जाता है इस विधि में कुल उपभोग और कुल बचत को सम्मिलित करते हैं।


Concept of National income in Hindi : राष्ट्रीय आय की अवधारणाएं

राष्ट्रीय आय कि प्रमुख 9 अवधारणाएं है, जो निम्नलिखित है –
 

1. सकल घरेलू उत्पाद | Gross domestic product in hindi ( G.D.P. )

Gross Domestic product (GDP) : सकल घरेलू उत्पाद – किसी देश की घरेलू सीमा के अंदर एक वर्ष में उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं के मौद्रिक मूल्य को सकल घरेलू उत्पादन (gdp gross domestic product) कहते है।
अन्य शब्दों मे – जीडीपी किसी भी देश कि आर्थिक अर्थव्यवस्था के बारे जानकारी प्राप्त करने का माध्यम है, इसे केंद्रीय सांख्यिकी कार्यलय द्वारा मापा जाता है।
 
Types of GDP – जीडीपी के प्रकार
  1. Real Gross Domestic Product
  2. Unreal Gross Domestic Product

Real Gross Domestic Product : इसकी गणना करते समय मुद्रास्फीति को नियंत्रण करने के सरकार एक आधार वर्ष का चयन करती है। इसके माध्यम से देश कि आर्थिक अर्थव्यवस्था का अनुमान लगाया जा सकता है। 

Unreal Gross Domestic Product: इसमें देश कि जीडीपी वर्तमान उत्पाद के मूल्यों के आधार पर निकाली जाती है।
Gross Domestic product Formula 
 
GDP (सकल घरेलू उत्पाद) =  निजी खपत + सरकारी निवेश + सकल निवेश + सरकारी खर्चे + ( निर्यात – आयात )
 
या
GDP (सकल घरेलू उत्पाद) =  C+I+G+(X-M)
 

2. शुद्ध घरेलू उत्पाद | Net Domestic Product in hindi (N.D.P. )

 
सकल घरेलू उत्पाद में से जब उत्पादन में प्रयुक्त मशीनों और पूंजी की घिसावट को घटा दिया जाये तो शुद्ध घरेलू उत्पाद (ndp net domestic product) प्राप्त होता है
 
Net domestic product formula in Hindi 
 
 {सकल घरेलू उत्पाद – मूल्य ह्रास}
{Gross domestic product – DEPRECIATION VALUE}
 
 
 

3. सकल राष्ट्रीय उत्पाद | Gross National Product in hindi  ( G.N.P.)

किसी देश के द्वारा एक वर्ष में उत्पादित समस्त वस्तुओं और सेवाओं के मौद्रिक मूल्य को सकल राष्ट्रीय उत्पाद कहते है इसमें विदेशों से प्राप्त आय सम्मिलित होती है
 

Gross National Product formula in hindi

{सकल घरेलू उत्पाद (G.D.P.) + विदेशों से अर्जित विशुद्ध आय}

4. शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद | Net National Product IN HINDI  ( N.N.P.)

सकल राष्ट्रीय उत्पाद से जब उत्पादन में प्रयुक्त मशीनों एवं पूँजी की घिसावट को घटा दिया जाता है तो शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद प्राप्त होता है

Net National Product formula in Hindi and English 

 
{सकल राष्ट्रीय उत्पाद (G.N.P.) – मूल्य ह्रास}
{Gross National Product   – DEPRECIATION VALUE}

 

5.राष्ट्रीय आय | National Income IN HINDI ( N.I )

साधन लागत पर शुध्द राष्ट्रीय उत्पाद को राष्ट्रीय आय कहते है प्रचलित कीमतों पर शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद में से अप्रत्यक्ष कर को घटा दिया जाये और उत्पादन को जोड दिया जाये तो राष्ट्रीय आय प्राप्त होती है
 
National income formula in Hindi and English
 
{प्रचिलित कीमतों पर शुद्ध राष्ट्रीय आय – अप्रत्यक्ष कर + उपादान}
{Net national income at prevailing prices – indirect tax + material}
 

6. वास्तविक राष्ट्रीय आय | Real National Income  (R.N.I.)

किसी भी देश की मुद्रा की क्रय शक्ति में निरंतर परिवर्तन होता रहता है इसलिए वास्तविक राष्ट्र्रीय आय की जानकारी के लिए किसी आधार वर्ष के सापेक्ष शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद की गणना की जाती है

7. प्रति व्यक्ति आय | Per Capita Income IN HINDI  (P.C.I.)

जब कुल राष्ट्रीय आय में से कुल जनसंख्या का भाग देते है तो प्रति व्यक्ति आय प्राप्त होती है, प्रति व्यक्ति आय दो तरह से प्राप्त की जा सकती है।
 
Per capita income formula 
 
  1. प्रचलित कीमतों पर प्रति व्यक्ति आय- प्रचलित कीमतों पर राष्ट्रीय आय /वर्तमान जनसंख्या
  2. स्थिर कीमतों पर प्रति व्यक्ति आय स्थिर कीमतों पर राष्ट्रीय आय / वर्तमान जनसंख्या

 

8. वैयक्तिक आय | Personal income

एक वर्ष में राष्ट्र के निवासियों को प्राप्त होने वाली वास्तविक आय वैयक्तिक आय कहलाती है
 
Personal income formula in Hindi and English 
 
{राष्ट्रीय आय + अंतरण भुगतान – निगम कर – अवतरित लाभ -सामाजिक सुरक्षा अनुदान}
 
{National Income + Transfer Payments – Corporation Taxes – Disbursed Benefits – Social Security Grants}

 

9. व्यय योग्य आय | Disposable income

प्रत्येक व्यक्ति एक वर्श में प्राप्त आय को पूर्णत: व्यय नहीं कर पाता बल्कि सरकार द्वारा प्रत्यक्ष कर के रुप में कुछ राशि ले ली जाती है शेष बची राशि को व्यय योग्य राशि कहते है
 
DISPOSABLE INCOME FORMULA
 
{वैयक्तिक आय – प्रत्यक्ष कर}

{ personal income – direct tax}

राष्ट्रीय आय के अग्रिम अनुमान
केंद्रीय सांख्यिकी संगठन ने वित्तीय वर्ष 2015-16 के लिए राष्ट्रीय आय के अग्रिम अनुमान 8 फरवरी, 2016 को जारी किए। ध्यातव्य है कि राष्ट्रीय लेखों को मापने के लिए नए आधार वर्ष 2011-12 को 30 जनवरी, 2015 से शुरू किया गया है। इससे पूर्व राष्ट्रीय आय मापने के लिए आधार वर्ष 2004-05 था।
 


National income in Hindi pdf Download

अगर आप राष्ट्रीय आय को विस्तार से समझने के लिए इसे पीडीऍफ़ फॉर्मेट में डाउनलोड करना चाहते हो तो निचे डाउनलोड बटन पर क्लिक करें

National income Accounting in Hindi

राष्ट्रीय आय लेखांकन ( परिभाषा )

राष्ट्रीय आय लेखांकन का तात्पर्य उन विधियों, मापो या तकनीको से है जिनका उपयोग किसी भी देश कि सभी प्रकार कि अर्थव्यवस्था में समग्र रूप से आर्थिक गतिविधियों के मापन के लिए होता है। जिस तरह एक व्यक्ति, कंपनी या एक संस्था की आय की गणना की जा सकती है, ठीक उसी तरह एक देश की आय की भी गणना की जा सकती है।

साइमन कुजनेट्स को राष्ट्रीय आय लेखांकन का जनक माना जाता है।

National Income Accounting refers to the methods, measures or techniques that are used to measure the economic activities of any country as a whole in all types of economy. Just as the income of an individual, organization or Company can be calculated, in the same way the income of a country can also be calculated.

Simon Kuznets is considered the father of national income accounting.

एम. यानोवस्की के अनुसार – राष्ट्रीय आय लेखा विधि मुख्य रूप से राष्ट्रीय आय, अंतिम उत्पाद, उपभोग तथा पूंजी संचय को मापने की विधि है।”

National Income Accounting attempts primarily to measure national income, final products, consumption and accumulation of capital – M.Yanovsky

Final words as Conclusion ( निष्कर्ष )

प्रिय दोस्तों , मै उम्मीद  करता हूँ की आपको हमारी पोस्ट “National incom in Hindi ” जरूर पसंद आयी  होंगी, इस लेख मे हमने राष्ट्रीय आय से सम्बंधित सभी जानकारी को विरतारपूर्वक समझाने कि कोशिश कि जिसमे राष्ट्रीय आय कि परिभाषा, विधियां, अवधारणाएं एवं सूत्र शामिल है।

commerce केटेगरी मे हम हिंदीं के सभी टॉपिक को कवर करने की कौशिश करते हैँ इसलिए अगर आपको यह पोस्ट कुछ हद तक भी फायदेमंद  लगी  हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। मै  हमेशा यही कौशिश करता हू  की “अपने readers को पोस्ट  की संपूर्ण जानकारी आसान और विस्तृत रूप में प्रदान  कर सकूँ । यदि आपको और अधिक जानकारी की आवश्यकता है तो आप यहा क्लिक कर पढ़ सकते है अगर आपको कोई भी उलझन हो या लेख मे कोई गलती हो तो आप निचे कमेंट कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी. यदि आप हमसे सम्पर्क करना चाहते है या आपके पास कोई सुझाव है तो आप हमसे ईमेल के जरिये संपर्क   कर सकते है । हम आपके सुझाव का इंतजार रहेगा, शुक्रिया 😊

सब यह पढ़ रहे है आप भी पढ़े ⤵️


FAQ – Frequently asked questions on National income in Hindi

राष्ट्रीय आय कैसे ज्ञात की जाती है?

राष्ट्रीय आय ज्ञात करने के लिए प्रचिलित कीमतों पर शुध्द राष्ट्रीय आय में से अप्रत्यक्ष कर घटाकर उपादान को जोड़ा जाता है। [ प्रचिलित कीमतों पर शुध्द राष्ट्रीय आय – अप्रत्यक्ष कर + उपादान ]

राष्ट्रीय आय की गणना में एक वस्तु का मूल कितनी बार गिना जाता है?

राष्ट्रीय आय कि गणना में एक वस्तु का मूल एक बार ही गिना जाता है।

राष्ट्रीय आय की अर्थव्यवस्था में क्या महत्व है?

राष्ट्रीय आय कि अर्थव्यवस्था में बहुत महत्व है, क्योंकि जितनी ज्यादा राष्ट्रीय आय होगी उतनी ही मज़बूत अर्थव्यवस्था मानी जाएगी। इसलिए इसका सही आंकलन करना बहुत जरूरी है।

राष्ट्रीय आय मापने की कितनी विधियाँ हैं?

राष्ट्रीय आय की माप की तीन विधियां है:- 1. आय गणना विधि 2. उत्पादन गणना विधि 3. व्यय गणना विधि

आय कितनी प्रकार की होती है?

आय 3 प्रकार की होती है:-1. अर्जित आय ( Earned Income) 2. पोर्टफोलियो आय ( Portfolio Income) 3. निष्क्रिय आय ( Passive Income)

राष्ट्रीय आय लेखांकन का जन्मदाता कौन है?

राष्ट्रीय आय लेखांकन का जन्मदाता साइमन कुजनेट्स को माना जाता है।

प्रति व्यक्ति आय क्या है इसकी गणना का सूत्र लिखिए?

जब कुल राष्ट्रीय आय में से कुल जनसंख्या का भाग देते है तो प्रति व्यक्ति आय प्राप्त होती है, प्रति व्यक्ति आय दो तरह से प्राप्त की जा सकती है।

व्यय योग्य आय क्या है?

करों का भुगतान करने के बाद शेष बची हुयी आय व्यय योग्य आय कहलाती है। और इसे Yd द्वारा प्रदर्शित किया जाता है।व्यय योग्य आय Yd = PI- प्रत्यक्ष करPI = Yd प्रत्यक्ष

कर

राष्ट्रीय आय से क्या तात्पर्य है?

राष्ट्रीय आय से आशय किसी एक वित्तीय वर्ष मे किसी देश द्वारा उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं का मूल्य से है।इस प्रकार, यह एक वर्ष की अवधि के दौरान किसी भी देश की सभी आर्थिक गतिविधियों का शुद्ध परिणाम है और मुद्रा ( करेंसी ) के संदर्भ में इसका मूल्यांकन किया जाता है।

भारत में राष्ट्रीय आय की गणना कौन करता है?

(NSO) राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय , सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय भारत में राष्ट्रीय आय कि गणना करने वाली नोडल संस्था है।

प्रति व्यक्ति आय और राष्ट्रीय आय में क्या अंतर है?

जब कुल राष्ट्रीय आय में से कुल जनसंख्या का भाग देते है तो प्रति व्यक्ति आय प्राप्त होती है, जबकि राष्ट्रीय आय से आशय किसी एक वित्तीय वर्ष मे किसी देश द्वारा उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं का मूल्य से है।इस प्रकार, यह एक वर्ष की अवधि के दौरान किसी भी देश की सभी आर्थिक गतिविधियों का शुद्ध परिणाम है और मुद्रा ( करेंसी ) के संदर्भ में इसका मूल्यांकन किया जाता है।

MUHAMMED HASHIM

Leave a Comment